Enquiry usto know more

merikundli
 

2 Mukhi Rudraksha (दो मुखी रुद्राक्ष)

2 Mukhi Rudraksha (दो मुखी रुद्राक्ष)

2 Mukhi Rudraksha is a manifestation of Lord Shiva with Goddess Parvati. People searching for the desired life partner and people who want children are supposed to wear 2 Mukhi Rudraksha.

दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट में साक्षात शिव और पार्वती बसते हैं। इसे धारण करने के बाद आप अपनी सारी समस्‍याएं ईश्‍वर पर छोड़ दें वही आपके बिगड़े काम संवारेंगें।

1600/-

Delivery:Within 5 - 7 Business Days (All over India)
Order on Call: +91-9315672434
Energization:Free Energizaton by Acharya ji( फ्री अभिमन्त्रण पंडित जी द्वारा)

Specification

Shape & Origin:
आकार एवं उत्‍पत्ति :
Himalayan Origin Drop Shape Natural Rudraksha
हिमालयन रूद्राक्ष बूूंद के आकार का
Weight (Gm):~2.5-4.2
Bead Size(mm):~23*30
Certification:GJL&I, New Delhi
Metal:N/A

It is very auspicious and beneficial Rudraksha and blessed with the power of Lord Shiva and Goddess Parvati ji. It is also known as "Deveshwara".

दो मुखी रुद्राक्ष इसलिए भी सबसे खास है क्‍योंकि इसे धारण करने से शिव और शक्‍ति का एकसाथ आशीर्वाद मिलता है।

Benefits of 2 Mukhi Rudraksha:

  • 1. 2 Mukhi Rudraksha is a protection shield from external negative vibes.
  • 2. It purifies the surroundings and brings in positivity.
  • 3. It becomes your rescue in case of black magic.
  • 4. This Rudraksha reduces the effects of karmic debts and mistakes.
  • 5. It brings unity and harmony to the relations and releases emotional stress.

2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के लाभ -

  • 1. दांपत्‍य जीवन को सुखी बनाने के लिए दो मुखी रुद्राक्ष अत्‍यंत लाभकारी है।
  • 2. दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट धारण करने से घर-परिवार में शांति बनी रहती है और कर्ज से मुक्‍ति मिलती है एवं मान-सम्‍मान में बढ़ोत्‍तरी होती है।
  • 3. कर्क राशि वाले जातकों के लिए दो मुखी रुद्राक्ष अत्‍यंत उत्‍तम माना जाता है।

How to use 2 Mukhi Rudraksha:

One can wear it with a silk or cotton thread. 2 Mukhi Rudraksha can be worn as a bracelet or necklace.

कैसे करें प्रयोग 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट -

दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट को धारण करने का मंत्र “ॐ नमः”, “ॐ नमः शिवाय” और “ॐ नमः दुर्गाए” है। इसके अलावा “ॐ अर्ध्नारिश्वराए नमः” मंत्र का दिन में 5 माला रोज़ जाप करने से शिव और माँ पारवती की विशेष कृपा बरसती है।

हमसे क्‍यों लें

दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट को हमारे पंडितजी द्वारा अभिमंत्रित कर के आपके पास भेजा जाएगा जिससे आपको शीघ्र अति शीघ्र इसका पूर्ण लाभ मिल सके।

1600/-